Quotes New

Audio

Forum

Read

Books


Write

Sign In

We will fetch book names as per the search key...

Combo of 3 Bestselling Hindi Romance Novels : With You Without You + Sanyog+Dil Dhoondta Hai

★★★★★

AUTHOR :
StoryMirror Authors
PUBLISHER :
StoryMirror Infotech Pvt. Ltd.
ISBN :
COMBO
PAGES :
500
PAPERBACK
₹575

₹690


₹575



Tangled love stories, love for dreams and love for finding oneself - the stories are relatable, warm and inspirational. 

Buy this Combo of 3 Bestselling Hindi Romance Novels : With You Without You + Sanyog+Dil Dhoondta Hai and have a great week ahead!


With You : Without You is a love-triangle that differentiates between friendship in love and love in friendship. It depicts two love stories tangled in each other. With confusion and complications all around, the book beautifully elucidates the chaos that life and the love that results because of all this confusion and complications.


संयोग मुम्बई की एक सच्ची प्रेम कथा है। अपने सपनों को सच कर दिखाने के लिए, एक छोटे से गाँव का रहने वाला यश, सपनों की मायानगरी मुंबई पहुँचा। हकीकत की दुनिया से रुबरू हुआ तो उसे एहसास हुआ कि इस अनजान शहर में दौलत, शोहरत और रुतबा कमाना इतना आसान नहीं है। कई दिन भूखे पेट सोने के बाद उसे एक सपनों के सौदागर का साथ मिला। राह उसने बताई और सफ़र वह खुद अपनी मेहनत, लगन और ईमानदारी से तय किया। इसी बीच उसे एक काॅलेज में पढ़ने वाली हसीन और बेहद ही खूबसूरत लड़की प्रतिमा से प्यार हो गया। यह न सिर्फ यश के, बल्कि प्रतिमा के भी जीवन का पहला प्यार था। कहते हैं दीवानगी की कोई हद नहीं होती, क्योंकि यह बेहद खूबसूरत होती है और अगर किसी को पाने की सच्ची चाहत हो तो, उसे मिलाने को पूरी कायनात भी साज़िश रचती है, लेकिन संयोग तो कुछ और ही था। दिल को छू लेने वाली, कभी भी न भूलने वाली, इस मोहब्बत की यादगार दास्तान में एक दिन अचानक ऐसा क्या हो जाता है कि जिसकी उन दोनों ने कभी कल्पना भी न की थी।


दिल ढूंढता है.. (Dil Dhoondhta hai..)

Every human being who sets sail in the ship of reality and dreams sways constantly in the endeavor to cross the sea of life. Sometimes they move towards their destinations and sometimes away from it. Rahul, struggling between losing and gaining, finds himself lost in the search of love. In search of love, he goes away from himself. He never in his wildest dreams had imagined such chaos. Later, this journey of Rahul turns out to be a wonderful experience.












ADD TO CART
 Added to cart