Quotes New

Audio

Forum

Read

Books


Write

Sign In

Type key we will fetch book names

After purchase of e-books, you can read them in your profile page.

ख़ुद से कहीं दूर (Khud Se Kahin Door)

★★★★★

AUTHOR :
मोहनजीत कुकरेजा (एमके)
PUBLISHER :
StoryMirror Infotech Pvt. Ltd.
ISBN :
ebook
PAGES :
56
E-BOOK
₹0


About the book:

“ख़ुद से कहीं दूर…” मोहनजीत कुकरेजा द्वारा रचित उन ५२ काव्यात्मक रचनाओं का एक अनूठा पुस्तक रूपांतरण है, जो पूरे एक वर्ष में '५२ सप्ताह लेखन प्रतियोगिता (द्वितीय संस्करण)' के अंतर्गत प्रकशित की गई हैं । भिन्न-भिन्न विषय वस्तुओं पर लिखीं उनकी ये बेहतरीन कविताएं और ग़ज़लें अवश्य आपका मन मोह लेंगीं ।  

 

About the Author:

मोहनजीत कुकरेजा (एमके) दिल्ली विश्वविद्यालय से एक भेषजी स्नातकोत्तर (एमo फ़ार्मo) हैं, व्यवसाय से दवा-उद्योग से सम्बंधित हैं और शायरी तथा लेखन में बेहद दिलचस्पी रखते हैं । जीवन के विभिन्न पहलुओं पर उनको कविता और कहानी लिखना बेहद पसंद है I स्टोरीमिरर पर उनकी बहुत सी रचनाएँ उपलब्ध हैं I   

           मोहनजीत ने बहुत पहले लेखन प्रारम्भ कर दिया था और जब उनकी पहली कविता प्रकाशित हुई थी वह अभी ग्यारहवीं कक्षा में ही थे । खुली, छंदमुक्त कविता से शुरुआत करने के बाद इतने अंतराल में आज-कल उनको काव्य की सबसे जटिल शैली, ग़ज़ल लिखना पसंद है । हिंदी और उर्दू के बहुत ख़ूबसूरत मिश्रण से मोहनजीत तक़रीबन हर विषय पर लिखते हैं, फिर चाहे वो रूमानी हो, ज़िन्दगी का फ़लसफ़ा या सूफ़ी । 

           अपनी ठहरी हुई, धीर-गंभीर आवाज़ में बहुत ही प्रभावशाली तलफ़्फ़ुज़ के साथ, अपनी और दुसरे प्रतिष्ठित शायरों की चुनींदा रचनाओं को, पढ़ कर की गई रिकॉर्डिंग को भी अक्सर साझा करते हैं । स्टोरीमिरर के ऑडियो सेक्शन में आप उनकी आवाज़ में प्रस्तुतियों का आनंद उठा सकते हैं । 

यूट्यूब पर भी उनका अपना एक चैनल है: ‘TheEmkay1311’

https://www.youtube.com/user/TheEmkay1311


प्रकाशित पुस्तकें:

1.     अभिव्यक्ति - एक काव्य संकलन: अशआ'र, कविता, नज़्म, क़ता और ग़ज़लों का पहला अद्भुत प्रकाशन ।

2.     मनगढंत (हिंदी कहानियां): इस पुस्तक में लेखक के कहानी कहने के अंदाज़ की परिपक्वता झलकती है ।

3.     विदिन एंड अराउंड (अंग्रेज़ी कहानियों का संग्रह): २१ दिलचस्प कहानियां जिन से साबित होता है कि अंग्रेज़ी भाषा पर भी लेखक का समान प्राधिकार है ।

4.     फ़ोर पिल्लर्स फाइव स्टोरीज़ (इ-बुक): भारतीय साहित्य से छायावाद युग के चार आधारस्तंभों की पांच कहानियों का अंग्रेज़ी अनुवाद ।

5.     ख़यालात - चंद ग़ज़लें:  दिल को छू लेने वाली ५१ ग़ज़लों का एक दीवान ।

संपर्क: kaviemkay@rediffmail.com


ADD TO CART
 Added to cart